पंटर का हाल मैच के बाद(हंसी-मजाक)

इस जीत का तो बहुत बेसब्री से इंतज़ार था..पता नहीं कब से..मैच के पहले भी बहुत लोग से ये सुन चूका था की हमारी टीम फॉर्म में नहीं है, अच्छा पर्दर्शन नहीं कर रही है, लेकिन फिर भी मुझे ये विश्वास था की ऑस्ट्रेलिया से तो हम किसी भी कीमत पे नहीं हारने वाले.ये बात सही है की हमारी टीम ने अपनी क्षमता के अनुसार अभी तक खेल नहीं खेला है.लेकिन कल के जीत के बाद, अधिकतर क्रिटिक्स के मुहं बंद हो गए होंगे.खैर, ये तो अब पुरानी बात हो चुकी है.ये पोस्ट मैंने कोई विश्लेषण के लिए नहीं लिखा है..ये पोस्ट तो बस ऐसे ही मस्ती में लिखा जा रहा है…मैच के बाद क्लूनी और पीअर्स की बातचीत का कुछ अंश..
“अरे बाबा, साला पंटरवा का चेहरा देखिये न, रो देगा अब लगता है…अरे हो फोन कीजिये पोंटिंग को, समझाइये कुछ…कहीं साला कुछ कर वर न दे..”
हाँ, हाँ, रुकिए रुकिए फोन मिलाते हैं…………………………
……..अरे तेरी..उसका मोबाइल का तो इनकमिंग ब्लोक कर दिया है…लगता है साला आई-डी प्रूफ न जमा किया होगा……
हाँ, करिये दिया होगा ब्लोक….बेचारा तीन दिन से प्रैक्टिस कर रहा है..कुछ होश थोड़े है उसको..पगलाया हुआ है….सुनने में तो आया है की स्मिथ जब कहिस “छोडो न यार, कैसे भी हम हारेंगे ही इंडिया से..काहे लगी मेहनत कर रहे हो..चलो पार्टी शार्टी करो…दारू वारू पियो और एन्जॉय मुड में रहो..”  तो खूब मारा है पोंटिंगवा  स्मिथ को….बैट से बैटीया दिया है…
ओह अच्छा, इसीलिए लगता है की स्मिथ को निकाल दिया सेमीफाईनल टीम से…
हाँ, तो और क्या…टीम से तो निकालबे किया है और देखिये उसको बैटीयाने के बाद पंटरवा का फॉर्म भी वापस आ गया…प्रैक्टिस अच्छा हो गया था न स्मिथ के देह पे…वईसे पंटरवा भी कन्फर्म था की ऊ हारेगा ही, इसी लिए तो कल सुबह ऊ टिकट कटवाया है ‘मेक मई ट्रिप’ से…साला खुश था..डिस्काउंट भी मिल गया उसको १०%.रात में दू बजे फ्लाईट है उसका.देखे नहीं कैसे जल्दी जल्दी प्रेजेंटेसन में इंटरविउ दे रहा है…अरे उसको लेट हो रहा है न..पूरा टीम अपना सामान पैक कर के स्टेडियम ही लेते आया है…यहीं से निकल लेगा..क्लर्कवा तो कहिस है की हम खड़े खड़े भी चले जायेंगे ऑस्ट्रेलिया…

ओह अच्छा…और सुने हैं की शौन टेटवा को ज्यादे सेक्युरिटी दिया गया है…

हाँ त ..कैसे भी उसको ज्यादे सिक्युरिटी दिया जाएगा…बाबा (सचिन)को आउट किया है…मजाक है क्या…बिना सेक्युरिटी बाहर निकलेगा तो पब्लिक सब उसका टेटुआ न दबा देगा…
और बाबा,  आज तो अफ्रिदिया का भी हालत खराब होगा…
हाँ, तो कैसे भी….उ त जब से सुना है की इंडिया जीत गया है आज का मैच, तब से उसका तबियत खराब हो गया है…बेड पकड़ के बैठ गया है..बड़ा हालत खराब है…अख्तरवा सोच रहा होगा की साला फिर से बाबा(सचिन) उसका धुलाई करेंगे, और सहवगा,गंभीरवा,युवरजवा तो हईले है…बहुत मारेगा सब मिल के…और कहीं धोनी भी फॉर्म में आ गया तो हो गया बंटाधार..
लेकिन बाबा मोहाली का पिच तो बोलर का पिच है…

हाँ त बाबा ज़हीर कहर ढायेंगे उस दिन…अफ्रिदिया भी जानता है की ना जीतेगा ऊ..तबे तो अख्तर को कह के  बुधवार का टिकट बुक करवा लिया है वापस लाहोर का ..सोचा की अभी टिकट एविलेबल है तो कटवा लेते हैं नहीं तो वेटिंग  या  rac आ गया तो मुश्किल में फंस जायेंगे…साला तत्काल में भी टिकट के लिए सौ रुपिया एक्स्ट्रा देना पड़ेगा उसको…ऐसे ही कंगाली का स्थिति है..कहाँ से लाएगा एक्स्ट्रा सौ रुपिया…

————————–
सुबह चाय दूकान पे 
————————–
का बाबा, चला गया पंटरवा न वापस???बड़ा बोल रहा था बाबा(सचिन) के खिलाफ…
अरे बोले दीजिए उस करमजला को…अकल आ गया होगा उसको अब तक…वईसे ऊ गया नहीं है अब तकले…..कल रात उसका तबियत खतरनाक खराब हो गया…दे उलटी पे उलटी…बाथरूम का भी चक्कर लगा रहा है लगातार…बेचारा रात का फ्लाईट मिस कर दिया है, अब आज वापस जा रहा है..और सुबह सुबह बाथसन बाबु(वाटसन),किरानी बाबु(क्लार्क=क्लर्क) और कजरिया टाईल्स (क्रेजा) को खूब पीटा भी है…
काहे जी??
अरे किरानी बाबु तो पूरा खुश थे और कजरिया को कह रहे थे की अच्छा हुआ हार गया ई पंटरवा..अब हमको कप्तानी मिलेगा….ई बात पंटरवा सुन लिया और दे हंटर दे सोट्टा से देह लाल कर दिहिस है पोंटिंगवा उ किरानी और कजरिया का..
ओह अच्छा…लेकिन ऊ बाथसन को काहे पीटा हो??ऊ त बेचारा जीन्स ख़रीदे गया था न सुबह सुबह…
अरे हाँ त…जीन्स खरीद के लाया था लोकल मार्केट से…और पंटर को दिखा के चिढ़ा रहा था…की “देखो हम जीन्स ख़रीदे हैं निया निया…तुम नहीं न ख़रीदे”..
ये सुन के पंटरवा के दिमाग का पारा चढ़ गया और जो जुत्ता पहिना हुआ था उसी को खोल के खूब पीटीस है बाथसन को..बेचारा बाथसन खूब रोया है बाथरूम में बंद हो के….और टीम मैनेजेर से सिकायत कर दिया है…कह रहा था की पोंटिंगवा पगलाया हुआ है..उसको यहीं किसी पागलखाना में भर्ती कर दो..ऑस्ट्रेलिया ले जाए के खर्चा भी बच जाएगा…
हाँ भाई सही बात है, बेचारा पे घोर बिप्पति आ गया है…सुन रहे थे की कल रात मैच के बाद पोंटिंग कोफ़ी पिये एक कोफ़ी शॉप गया तो कोफ़ी शॉप वाला उसको देख के हँस दिया और पोंटिंग बेचारा लजा के वापस लौट आया…कोफ़ी भी नहीं पिया…तभिये से उसका तबियत खराब हो गया है..

अच्छा बाबा, ई बताइए पाकिस्तान वाला का टिकट कन्फर्म हुआ की नहीं????
अरे टिकट तो मिल गया है…लेकिन अफ्रीदी और अख्तर को ही बस थ्री ऐ.सी. का टिकट मिला है…बाकी लोग का टिकट स्लीपर में है…और जो प्लेयिंग इलेवेन में नहीं है न…ऊ सब का टिकट नहीं कटवाया है अफ्रीदी…बोल रहा था की ऊ सब जेनेरल से चला जाएगा…काहे लिए ज्यादे पैसा खर्च करें…बुधवार को ही टिकट ले लेंगे काउंटर से….
चलिए ठीक है…वईसे अख्तर सुबह सुबह पंटर से मिले गया था उसके होटल..पंटर बहुत अच्छा सलाह दिया है उसको…कहा है की चले जाओ वापस अभिये कोई बहाना बना के…कह दो की पेट में दर्द है नहीं खेलेंगे सेमी-फाईनल…काहे के लिए हारोगे इंडिया से…पाकिस्तान का लोग सब कूट देगा तुम अगर हारे तो…अच्छा यही है की वीकेंड में घूम फिर लो यहाँ…मॉल से कपड़ा लत्ता खरीद को, काहे की तुमरे यहाँ तो गिन के सात गो मॉल है…यहीं से नया नया कपड़ा खरीदो…मैक डी में खा पी लो…बैरिसिता में कोफ़ी पी लो और निकल लो चुप चाप 😀 

Recent Articles

हरि रूठे गुरु ठौर है, गुरु रुठै नहीं ठौर : शिक्षक दिवस पर खास

सुदर्शन पटनायक द्वारा बनाया गया, चित्र उनके ट्विटर से लिया गया आज शिक्षक दिवस है, यह दिन भारत के प्रथम उप-राष्ट्रपति और दूसरे राष्ट्रपति डॉ....

तीज की कुछ यादें, कुछ अभी की बातें और एक आधुनिक समस्या

इस साल के तीज पर बने पेड़कियेबचपन से ही तीज का पर्व मेरे लिए एक ख़ास पर्व रहा है. सच कहूँ तो उन दिनों इस...

एक वो भी था ज़माना, एक ये भी है ज़माना..

बारिश हो रही हो, मौसम सुहाना हो गया हो और ऐसे में अगर कुछ पुराना याद आ जाए तो जाने क्या हो जाता है...

बंद हो गयी भारत की सबसे आइकोनिक कार, जानिये क्यों थी खास और क्या था इतिहास

Photo: CarToqपिछले सप्ताह, अचानक एक खबर आँखों के सामने आई, कि मारुती अपनी गाड़ी जिप्सी का प्रोडक्शन बंद कर रही है. एक लम्बे समय...

आईये, बंद दरवाजों का शहर से एक मुलाकात कीजिये

यूँ तो साल का सबसे खूबसूरत महिना होता है फरवरी, लेकिन जाने क्यों अजीब व्यस्तताओं और उलझनों में ये महिना बीता. पुस्तक मेला जो...

Related Stories

  1. हा हा हा हा बहुत जुलमी लिखे हो बाबू ..एकदम कलेजा काट ..अबे तुमको भी आदत पडता जा रहा है …बाबा सट्टा जी की जय न…जो बोले हैं कि अबकि वर्ल्ड कप अपना ही है ..जियो जियो

  2. का कहते हो लाहौर वाला बसवा में हम उ सब के लिए छत पर सिट रिज्भेसन करा दें..!! अरे मेहमान को बिदागरी करने का तो हम लोग का टेडीसन है.. नहीं तो डीजल इंजिन वाला रिज्भेसन तो हम बतेबे किये थे..
    मगर जो हो जल्दी से बता दो, बाद में एजेंटवो सब नाम सुनके हत्थे से कबड जाएगा कि ऊ लोग के लिए नहीं बुक करेंगे!! मंगनियो में नहीं!!
    जल्दी खबर करना!

  3. अरे वाह्………… एकदम्मे बिजोड़ मंजर है भाई। दिल खुश हो गया, कसम से…! पंटर रहता त नहीं कहते बाकि अपना भइवा सब है त अइसा कीजियेगा कि समझौता एक्सप्रेस में गार्ड के डिब्बा के पीछे एगो ठेला बँधवा दीजियेगा…… किट-ऊट सब लदा जायेगा।

    सेमीफ़ाइनल के बाद फिर जाने का हाल जरूर बताइयेगा अफ़रीदी का। 🙂

  4. पहिले ई बताओ…अच्छा जाए देओ…तनिक हँसी से फुर्सत मिलिहैं…तब पूछि लेबे…:P

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

नयी प्रकाशित पोस्ट और आलेखों को ईमेल के द्वारा प्राप्त करें