दोस्ती क्या है?

दोस्ती क्या है?मेरी नज़र…

आज  मेरे नज़र से देखिये दोस्त क्या हैं? दोस्त का मतलब मेरे लिए क्या है? क्या दोस्ती है मेरी जिंदगी में…

ये कोई कविता तो नहीं लेकीन मेरे कुछ करीबी मित्रों के नाम हैं…मैंने कोशिश तो बहुत की, की एक अच्छी कविता बने लेकीन शायद सफल नहीं रहा  🙂 
आज सुबह सुबह ये ऐसे ही रैन्डम्ली लिखा…सोचा ब्लॉग पे पोस्ट कर दूँ… 🙂

दोस्ती नज़्म भी है..दोस्ती शेर भी..दोस्ती गीत भी है…
दोस्ती प्यार की इन्तहा भी है…
दोस्ती का नाम शिखा भी है,
दोस्ती का नाम दिव्या भी..
दोस्ती का नाम प्रभात भी  है,
दोस्ती का नाम अकरम भी…

दोस्ती तो एक एहसास है..
दोस्ती  दिल से निकली दुआ भी है…
दोस्ती का मतलब रवि भी है..
दोस्ती का अर्थ मती भी…
दोस्ती का नाम सुदीप भी है..
दोस्ती का मतलब मुराद भी..

दोस्ती एक प्रार्थना है..
दोस्ती  एक शक्ति..
दोस्ती  का मतलब प्रशांत भी है
दोस्ती  का अर्थ समित भी..
दोस्ती  का नाम रिया भी है
दोस्ती  का नाम निशांत भी..

दोस्ती  बहुत अनमोल है..
दोस्ती तो एक रौशनी, एक उम्मीद है..
दोस्ती का नाम शेखर भी है
दोस्ती का मतलब विशाल भी 
दोस्ती का अर्थ राहुल भी है 
और दोस्ती का नाम आशीष भी

दोस्ती हमें लिखने से है
दोस्ती हमें पढने से है..
दोस्ती का नाम स्तुति भी
दोस्ती का मतलब उमा भी
दोस्ती का अर्थ पंकज भी है
दोस्ती का नाम स्नेहा भी..


ये दोस्ती तो मेरे लिए नायब है,..
इनकी दोस्ती से ही तो है जिंदगी हमारी..


Recent Articles

हरि रूठे गुरु ठौर है, गुरु रुठै नहीं ठौर : शिक्षक दिवस पर खास

सुदर्शन पटनायक द्वारा बनाया गया, चित्र उनके ट्विटर से लिया गया आज शिक्षक दिवस है, यह दिन भारत के प्रथम उप-राष्ट्रपति और दूसरे राष्ट्रपति डॉ....

तीज की कुछ यादें, कुछ अभी की बातें और एक आधुनिक समस्या

इस साल के तीज पर बने पेड़कियेबचपन से ही तीज का पर्व मेरे लिए एक ख़ास पर्व रहा है. सच कहूँ तो उन दिनों इस...

एक वो भी था ज़माना, एक ये भी है ज़माना..

बारिश हो रही हो, मौसम सुहाना हो गया हो और ऐसे में अगर कुछ पुराना याद आ जाए तो जाने क्या हो जाता है...

बंद हो गयी भारत की सबसे आइकोनिक कार, जानिये क्यों थी खास और क्या था इतिहास

Photo: CarToqपिछले सप्ताह, अचानक एक खबर आँखों के सामने आई, कि मारुती अपनी गाड़ी जिप्सी का प्रोडक्शन बंद कर रही है. एक लम्बे समय...

आईये, बंद दरवाजों का शहर से एक मुलाकात कीजिये

यूँ तो साल का सबसे खूबसूरत महिना होता है फरवरी, लेकिन जाने क्यों अजीब व्यस्तताओं और उलझनों में ये महिना बीता. पुस्तक मेला जो...

Related Stories

  1. वाह जी तुम तो बडे प्रायोगिक कवि हो.. अच्छे अच्छे प्रयोग करते रहते हो.. शानदार कविता और हमरा मोस्ट वान्टेड नाम अपनी हिट लिस्ट मे रखने के लिये एक बहुत बडा वाला धन्यवाद 😉

  2. दोस्ती का पूरा वर्णन कर दिया ..और वो भी सुन्दर शब्दों से सजी सुन्दर कविता के रूप में ….अधिक नहीं कहूँगा ..बस यही कहूँगा की आज से आपके दोस्तों में एक नाम और बढ़ गया , हमारा ,,,,अगली दोस्ती के रचना में इसे ना भूलना….बहुत अच्छा लिखा है मित्र …आपकी दोस्ती और सभी दोस्त सलामत रहे ..यही दुआ है हमारी ….शुक्रिया अच्छी प्रस्तुति के लिए
    http://athaah.blogspot.com/

  3. और हां सपनो के पीछे मत भागो …..एक जगह सुस्ताकर बैठ जाओ …..आपके सपने खुद आपको ढूंढ लेंगे …बस थोड़ा सा कुछ करते रहो जो मन को संतोष दे

  4. bahut sahee likha hai aapne. dosti ka rishta toh dil se he hai. its not important ki aap ek dusre se mile hai ya nhi….!!

    mujhe toh yeh ek kavita se he lag rhe thii.. bahut accha . and thnx 🙂

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

नयी प्रकाशित पोस्ट और आलेखों को ईमेल के द्वारा प्राप्त करें