क्रिकेट का खुदा.. सचिन रमेश तेंदुलकर…

होली का एक अच्छा तोहफा-शतको के बादशाह ने जड़ा दोहरा शतक

 ठीक ३ दिन बाद होली है.ऐसे में इससे अच्छा तोहफा मेरे लिए और आप सब के लिए क्या हो सकता है की क्रिकेट का खुदा कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर ने कल(बुधवार को) दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ यहां दूसरे वनडे में एक और मील का पत्थर अपने नाम करते हुए वनडे इतिहास में पहला दोहरा शतक बना लिया.
 

 
शायद इस दोहरे शतक का इंतज़ार सभी को था,जब भी सचिन १५० के स्कोर को पार करता था तो मुझे लगता की शायद बन ही जाए २००..इस बार तो जब सचिन ने १०० पार किया तभी मुझे अंदाज़ा हो गया था की आज कोई कारनामा हो सकता है, और ऐसा ही हुआ.उस वक़्त मुझे लगा की जैसे मेरे जिन्दगी की सबसे बड़ी मुराद पूरी हो गयी.शायद इतना खुश मैं बहुत दिनों के बाद हुआ..


पूरी शाम मैं,अपने दोस्तों के साथ बस सचिन की ही बातें कर रहा था.चाय पीने दुकान पंहुचा तो वहां भी एक सा ही नज़ारा था, सारे लोग बस यही बातें कर रहे थे की किस लाजवाब ढंग से सचिन ने आज दक्षिण अफ्रीकी गेंदबाजो की धुलाई की..





सचिन  ने इस उपलब्धि को हासिल करने के बाद जब अपने पुराने अंदाज़ में बैट हवा में उठाया तो मानो जैसे पूरा स्टेडियम उनके कदमो पे गिर गया हो.ग्वालियर के लोगों ने अपने आँखों के सामने एक इतिहास को बनते देखा..





मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने एकदिवसीय क्रिकेट इतिहास का पहला दोहरा शतक बनाने के बाद इसे देशवासियों को समर्पित कर दिया..उन्होंने कहा “मैं यह दोहरा शतक अपने सभी देशवासियों को समर्पित करता हूं जिन्होंने पिछले 20 वर्षो के दौरान मुझे इतना प्यार दिया… मैंने अपने करियर में जरूर कुछ उतार चढ़ाव झेले कि देशवासियों का प्यार हमेशा मेरे साथ बना रहा…”






मुझे न जाने कब से इस दिन का इंतज़ार था, जब ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सचिन ने १७५ रन बनाये, मुझे तो उस दिन भी लग रहा था की आज २०० रन बनने से कोई नहीं रोक सकता..लेकिन उस दिन ऐसा हो न पाया..दक्षिण अफ्रीका जैसे टीम के खिलाफ सचिन ने आखिरकार ये कर ही दिखाया..




बस अब इंतज़ार है टेस्ट मैच में एक तिहरे शतक का…और हम ये भी जानते हैं की ये लक्ष्य भी जल्दी ही पूरा होगा…



 एक सलाम सचिन के नाम 🙂


भारत को सचिन पे गर्व है, और शायद हमें फिर अपने जीवन में ऐसी पारी देखने को न मिले..




मेरे एक मित्र प्रशांत के द्वारा लिखी हुई एक पोस्ट पढ़े,

ऐसा खुदा जिसने आवारागर्दी और यायावरी सिखाया

Recent Articles

हरि रूठे गुरु ठौर है, गुरु रुठै नहीं ठौर : शिक्षक दिवस पर खास

सुदर्शन पटनायक द्वारा बनाया गया, चित्र उनके ट्विटर से लिया गया आज शिक्षक दिवस है, यह दिन भारत के प्रथम उप-राष्ट्रपति और दूसरे राष्ट्रपति डॉ....

तीज की कुछ यादें, कुछ अभी की बातें और एक आधुनिक समस्या

इस साल के तीज पर बने पेड़कियेबचपन से ही तीज का पर्व मेरे लिए एक ख़ास पर्व रहा है. सच कहूँ तो उन दिनों इस...

एक वो भी था ज़माना, एक ये भी है ज़माना..

बारिश हो रही हो, मौसम सुहाना हो गया हो और ऐसे में अगर कुछ पुराना याद आ जाए तो जाने क्या हो जाता है...

बंद हो गयी भारत की सबसे आइकोनिक कार, जानिये क्यों थी खास और क्या था इतिहास

Photo: CarToqपिछले सप्ताह, अचानक एक खबर आँखों के सामने आई, कि मारुती अपनी गाड़ी जिप्सी का प्रोडक्शन बंद कर रही है. एक लम्बे समय...

आईये, बंद दरवाजों का शहर से एक मुलाकात कीजिये

यूँ तो साल का सबसे खूबसूरत महिना होता है फरवरी, लेकिन जाने क्यों अजीब व्यस्तताओं और उलझनों में ये महिना बीता. पुस्तक मेला जो...

Related Stories

  1. अभिषेक जी,
    जिस समय सचिन रन बना रहा था, उस समय मैं सो रहा था. मेरे कानों मे एक हल्की सी खुसपुसाहट सुनाई दी कि सचिन ने दौ सौ रन बना दिये, तो नींद एकदम भाग गयी.

  2. नीरज जी,
    ऐसी खुसपुसाहट से नीद तो उड़ ही जाती है सबकी…. 🙂
    मैंने तो देखा ,ऐसा नज़ारा शायद फिर कभी देखने को न मिले हमें..:)

    वैसे सुक्रिया, ये पोस्ट पढ़कर यहाँ टिपण्णी करने का..

  3. ,Sachin rockkk…. 😉 usney fir se proove kar diya ki use god of cricket kyun kaha jata hai.,Sachin rockkk…. 😉 usney fir se proove kar diya ki use god of cricket kyun kaha jata hai.

  4. @अभिषेक
    मैंने जब ये सुना की सचिन ने १०० रन बना लिए, बस उसी समय ऑफिस से जल्दी घर आ गयी…
    और मैं बहुत खुश हूँ की सचिन ने ही सबसे पहले २०० रन बनाये

  5. sachin ke to hum bhakt rahe hain.. Jab suna ki sachin ne 200 run bana liye main to ek dum se ujhal gaya..dukh is baat ka hai ki match dekh nahi paya main..waise highlight jaroor dekha..:)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

नयी प्रकाशित पोस्ट और आलेखों को ईमेल के द्वारा प्राप्त करें