दिल्ली के दुर्गा पूजा पंडाल (तस्वीरें)


दिल्ली में दुर्गा पूजा सबसे बड़े रूप में चित्तरंजन पार्क में मनाया जाता है. वहाँ पहुँचते ही जैसे आप एकदम दुर्गा पूजा के रंग में रंग जाते हैं. सुन्दर माहौल होता है वहाँ का, वहाँ से लौटने का तो देर तक मन नहीं करता. जहाँ एक तरफ माँ दुर्गा की मनमोहक मूरत के दर्शन करने का अवसर मिलता है वहीँ मेले का आनंद भी आता है. चाट समोसे और पकौड़ियों के ठेले जगह जगह सी.आर पार्क में लगे दिख जाते हैं. बच्चे से लेकर बड़ों तक सभी इस मेले का खूब आनंद लेते हैं. सी आर पार्क के अलावा मिंटो रोड, सफदरजंग एन्क्लेव और आरामबाग का दुर्गा पूजा भी बेहद मशहूर है. आज के पोस्ट में पेश है दिल्ली के दुर्गा पूजा की कुछ तस्वीरें.

मेला ग्राउंड, चित्तरंजन पार्क में दुर्गा माँ की प्रतिमा 


मेला ग्राउंड में लोगों का समय अच्छा बीतता है 
काली मंदिर, चित्तरंजन पार्क

यहाँ दुर्गा माँ के दर्शन करना सबसे कठिन काम है. लगभग एक किलोमीटर तक लाइन लगी मिलती है 




लोगों की भीड़ कुछ इस तरह होती है वहाँ 


बंगाल और देश की शान हमारे अपने "दादा" पूरे मेले में हर जगह दिखे 

किसी बच्चे ने अपनी कार यहाँ सड़कों की बीचोबीच पार्क कर के रख दी है :)

गुब्बारों का मतलब होता है बचपन 

मेला हो और चाट, समोसे खाने को न मिलें ? ऐसा नहीं हो सकता 
सड़कों पर उत्सव 
 ई ब्लॉक, चित्तरंजन पार्क 


कोआपरेटिव ग्राउंड, चित्तरंजन पार्क







नव्पल्ली दुर्गा पूजा समिति, चित्तरंजन पार्क



बचपन की यादें 
दिल्ली के बाकी इलाकों में दुर्गा पूजा पंडाल
(आरामबाग, सफदरजंग, कश्मीरी गेट वगैरह)







अब ये एक तस्वीरें ऐसी हैं जो बहुत कुछ बयां करती हैं. आम तौर पर नेहरु प्लेस स्थित मैकडी रेस्टुरेंट लोगों से खचाखच भरा रहता है लेकिन दुर्गा पूजा के तीनों दिन यहाँ शाम में वीरानी छाई हुई थी और सड़कों के किनारे लगे ढाबों और ठेलों पर लोगों की भीड़ लगी थी.

2 comments:

  1. बहुत सुन्दर झांकियां हैं माँ दुर्गा की... ऐसा लगा कि कोलकाता मेरे लैपटॉप में उतर आया है. मेरे लिये तो घर बैठे दर्शन करने का सौभाग्य हो गया. शुभाशीष वत्स!

    ReplyDelete
  2. सुन्दर झांकियां

    ReplyDelete

आप सब का तहे दिल से शुक्रिया मेरे ब्लॉग पे आने के लिए और टिप्पणियां देने के लिए..कृपया जो कमी है मेरे इस ब्लॉग में मुझे बताएं..आपके सुझावों का इंतज़ार रहेगा...टिप्पणी देने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद..शुक्रिया

Powered by Blogger.