मॉल में एक दिन

Wednesday, December 22, 2010
मन्त्री मॉल, बैंगलोर का फ़ूडकोर्ट  मुझे मॉल में घूमना बहुत पसंद है..मॉल ज्यादातर जाता हूँ तो उस जगह जाना पसंद करता हूँ जहाँ बिना ज्यादा प...

हैदराबाद की यादें : २

Monday, December 20, 2010
समित बाबू और शेखर बाबू ने हैदराबाद वाली पोस्ट की खूब तारीफें की.दोनों को हैदराबाद में बिताए अपने दिन याद आ गए...दोनों की प्रतिक्रिया एक ...

हैदराबाद की यादें

Tuesday, December 14, 2010
हुसैन सागर लेक - हैदराबाद..इस शहर कि पहचान इससे भी है हैदराबाद हमेशा से मेरे लिए खास शहर रहा है.वहां कि बात ही कुछ और है, शुरू से मेरी ख्...

दोस्तों की दादागिरी

Friday, December 10, 2010
पिछले इतवार की ही बात है.मेरी दोस्त निधि माथुर का बैंगलोर आना हुआ..वो दिल्ली में कार्यरत है और कुछ काम के सिलसिले में बैंगलोर आई हुई थी.सन्ड...

खेलें हम जी जान से - मेरी नज़र से

Tuesday, December 07, 2010
आजादी की लड़ाई के कई ऐसे गुमनाम शहीद रहे हैं, जिन्हें या तो हम भूल चुके हैं या फिर अधिकतर लोगों को उनके बारे में कुछ भी पता नहीं.ऐसे ही एक ...

Those Rains Were Special (बरसात के वो दिन)

Wednesday, December 01, 2010
आज एक कविता देखिये, जिसे मैंने अंग्रेजी में लिखा था और पोस्ट किया था अपने दूसरे ब्लॉग "एहसास प्यार का" पे..फिर उसे किस खूबसूरती से...

अकेलापन - घबराना क्यों?

Tuesday, November 30, 2010
दो दिन पहले मेरी दोस्त कीर्ति का जन्मदिन था.फोन किया उसे जन्मदिन की मुबारकबाद देने के लिए तो पाया उसके आवाज़ में वो उत्साह नहीं था जो जन्मदि...

निर्मल सुख

Sunday, November 28, 2010
(फिर से डायरी से निकला एक पन्ना, इस बार निर्मल वर्मा के किताबों से कुछ जो मैंने कभी नोट कर के रख लिया था..अलग अलग कहानियों से लिया गया कु...

दोस्त, जब तुम्हारी याद आई.

Friday, November 26, 2010
(सीधा डायरी के पन्नों से निकाल के ब्लॉग पे) दोस्त, बात कहाँ से शुरू करूँ समझ नहीं आ रहा..परसों शाम मौसम बड़ा सुहाना था, हलकी ठंडी हवा बह र...
Powered by Blogger.