इवनिंग डायरी ५ - ब्लॉगर नास्टैल्जीआ

आज से नौ साल पहले जब मैंने हिन्दी में ब्लॉग लेखन की शुरुआत की थी तब ये सोचना भी नामुमकिन था कि इस ब्लॉगिंग के चलते हम कभी इतने नॉस्टैल्जिक...

भगत सिंह ने घर वालों को जो ख़त लिखे

भगत सिंह के पत्र - ७ भगत सिंह की कलम से लिखा गया  पहला खत अपने दादा के नाम था जो उन्होंने तब लिखा था जब वे छठी कक्षा में पढ़ते थे. ...

हमें फाँसी देने के बजाय गोली से उड़ाया जाए

भगत सिंह के पत्र - ६  भगत सिंह और उनके दोनों साथियो को फांसी लगने ही वाली है. यह सबकी राय थी. उसे किसी तरह कुछ दिन के लिए रोकना ...

जहाँ एकांत है

रोज़मर्रा की भागदौड़ से परेशान होकर हम सब ये कभी न कभी तो चाहते ही हैं कि कहीं दूर चल दिया जाए जहाँ ये सब परेशानियाँ, भागदौड़ न हो और सिर्फ शा...

मिर्ज्या - एक विसुअल और पोएटिक मास्टरपीस

जब से सुना था इस फिल्म के बारे में तब से ही काफी ज्यादा  उत्सुकता थी. राकेश ओमप्रकाश मेहरा मेरे सबसे प्रिय डायरेक्टर में से हैं. उनकी ती...

दिल्ली के दुर्गा पूजा पंडाल (तस्वीरें)

दिल्ली में दुर्गा पूजा सबसे बड़े रूप में चित्तरंजन पार्क में मनाया जाता है. वहाँ पहुँचते ही जैसे आप एकदम दुर्गा पूजा के रंग में रंग जाते ...